महिला सृष्टि रचयिता है इसके बिना जग सूना है। आओ करें सम्मान

0
115

संवाददाता राजेश कुमार बी ए न्यूज़ लखनऊ

सभी महिला का हक दूना है। यदि माता न हो तो संसार के किसी भी कोने में कोई इंसान न हो, इसलिए हमें हर महिला का स,म्मान करना चाहिए। उक्त बातें आज एसएसडी पब्लिक स्कूल अलीनगर सुनहरा कृष्णा नगर लखनऊ में महिला दिवस के दिन प्रधानाचार्या अधिवक्ता मंजू सैनी ने छात्राओं के एक कार्यक्रम में व्यक्त किए। उन्होंने छात्राओं से कहा कि आप खुद पढ़ लिखकर एक आत्मनिर्भर महिला बने। किसी के सहारे रहकर जीवन जीना एक गुलामी का जीवन होता है। इसलिए मन लगाकर पढ़ाई करें और अपने पैरों पर खड़ी होकर अपने मां-बाप के लिए एक सहारा बने। इस अवसर पर छात्रा कंचन गौतम ने बहुत सुंदर कविता प्रस्तुत की। इसके अलावा मधु अवस्थी, इला मैडम, वर्षा अवस्थी, शिखा वर्मा, पारुल गुप्ता,कुमारी शिवानी, हर्षिता गुप्ता समेत कई महिलाओं को शिक्षा के क्षेत्र में विशेष योगदान देने के लिए प्रबंधक रामानंद सैनी की ओर से प्रधानाचार्य मंजू सैनी ने माल्यार्पण कर उन्हें सम्मानित किया। कई एक छात्राओं और शिक्षिकाओं ने 8 मार्च 1914 से शुरू होने वाले इस महिला दिवस के शुभ अवसर पर अपने अपने विचार व्यक्त किए। प्रबंधक रामानंद सैनी ने छात्राओं और अध्यापकों से कहा कि आप लोग संविधान को पढ़ें, अपने अधिकारों को जाने और समाज में पुरुषों के बराबर अपना हक पाने के लिए उच्च शिक्षा ग्रहण करें। संघर्ष करें ताकि सम्मान के साथ अपना जीवन व्यतीत कर सकें। छात्राओं को मन लगाकर पढ़ने के लिए प्रेरित करते हुए शिक्षिका शिखा वर्मा ने प्रतिदिन घर में 4 घंटे पढ़ने और अपने माता पिता की आज्ञा का पालन करने के लिए कहा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here