जन-जन की मसीहा थी स्व श्रीमती कैलाशवती देवी: विरेन्द्र कुमार

0
23

न्याय दिलाने के लिए सदैव तत्पर रहती थी स्व०श्रीमती कैलाशवती देवी: वीरेंद्र कुमार

गोला विकास खण्ड के ग्राम खोपापार में स्वतंत्रता संग्राम सेनानी व चिल्लूपार विधानसभा क्षेत्र की पहली एवं प्रथम महिला विधायिका स्व०श्रीमती कैलाशवती देवी की पैतीसवीं पुण्यतिथि बड़े श्रद्धा और सम्मान पूर्वक मनाया गया।

स्वतंत्रता संग्राम सेनानी व चिल्लूपार विधानसभा क्षेत्र के प्रथम महिला विधायिका स्व०श्रीमती कैलाशवती देवी के पैतृक निवास खोपापार में सर्व प्रथम वीरेंद्र कुमार आई.जी. ने स्व०श्रीमती कैलाशवती देवी के चित्र पर श्रद्धा पूर्वक माल्यार्पण और पुष्प अर्पित कर श्रद्धांजलि अर्पित किए। इस अवसर पर वीरेंद्र कुमार ने कहा कि स्व०श्रीमती कैलाशवती देवी सन् 1957 में कांग्रेस पार्टी से विधायिका रहने के बावजूद उनका जीवन हमेशा साधारण रहा। श्रीमती कैलाशवती देवी के पति पं० रामबली मिश्र स्वतंत्रता सेनानी थे। जिनकी लोग छोटे गांधी के रूप में जानते थे। इस क्षेत्र में इनके जैसा कर्मठ, कर्त्तव्यपरायण और ईमानदार नेत्री शायद ही कोई हुआ हो। उन्होंने पूरा जीवन सादगी से जिया गरीब और कमजोर के लिए अपनी जान नेवछावर कर देती थी। ये सभी को न्याय दिलाने के लिए सदैव तत्पर रहती थी। अंग्रेजों द्वारा इनको बहुत अधिक प्रताणीत किया गया और इनके मकान को आग के हवाले कर दिया गया था।वे अपने घर में स्वतंत्रता संग्राम सेनानियों को संरक्षण प्रदान भी देती और अपने हाथों से भोजन पका कर खिलाती थी। इस अवसर पर सेनि. कर्नल राम आसरे मिश्रा,विभव कुमार श्रीवास्तव, विनीत कुमार श्रीवास्तव, सांसद मीडिया प्रभारी संतोष श्रीवास्तव, ग्राम प्रधान विपीन पांडेय,पियुस पांडेय, पुंडरीकांक्ष पांडेय, विनोद पांडेय, परशुराम यादव,विक्षीत श्रीवास्तव, सावित्री देवी, निधि श्रीवास्तव,मधु पांडेय,रामरती मिश्रा, सुषमा पांडेय सहित अनेक गणमान्य लोग उपस्थित रहे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here