उत्तर प्रदेश राजनीतिक वाराणसी प्रदेश अध्यक्ष डा.अजय चौरसिया बीजेपी गढ़ में सेंध लगाने को बेताब है

0
41

उत्तर। प्रदेश राजनीति वाराणसी
बीजेपी गढ़ में सेंध लगाने को बेताब है डा. अजय चौरसिया

जानिये कौन डा. अजय चौरसिया, जो सपा से कर रहे मजबूत दावेदारी

वाराणसीः देश के पीएम नरेंद्र मोदी के संसदीय क्षेत्र वाराणसी का शहर दक्षिणी विधानसभा सीट, यूं तो भाजपा का मजबूत गढ़ माना जाता है। लेकिन इस बार यहां से बीजेपी के इस गढ़ में सेंध लगाने के लिए डा. अजय चौरसिया ने कमर कस लिया है अजय चौरसिया 2018 से लेकर गरीबों के बीच रह कर कंबल वितरण एवं बहुत से रक्तदान किए। उन्हें इंतजार है सिर्फ सपा के हरी झंडी का। चौरसिया और वैश्य समाज के प्रभुत्व वाले इस विधानसभा सीट से डा. अजय चौरसिया सपा से अपनी मजबूत दावेदारी ठोंक रहे है। छात्र राजनीति से ही चर्चित चेहरा रहा है डा. अजय चौरसिया का
करीब 42 वर्षीय डा. अजय चौरसिया वाराणसी खेजवां के मूल निवासी है और शिवाला सोनापुरा में स्थित अपने कार्यालय से पिछले कई वर्षो से निरंतर जनसेवा में लगे है। वे सपा के रास्ते प्रदेश की राजनीति में चौरसिया समाज का मजबूत प्रतिनिधित्व व राजनीतिक पकड़ मजबूत करने के लिए लगातार प्रयासरत है। शहर दक्षिणी विधानसभा क्षेत्र में चौरसिया समाज का प्रभुत्व माना जाता है और यूपी के कई विधानसभा क्षेत्रों में चौरसिया समाज की मजबूत दखल है।
छात्र राजनीति से ही सक्रिय रहे है चौरसिया महासभा के प्रदेश अध्यक्ष
डा. अजय चौरसिया छात्र जीवन से ही समाजसेवा के प्रति सक्रिय रहे है। वे वर्तमान में अखिल भारतीय चौरसिया महासभा यूपी के प्रदेश अध्यक्ष है और 2003-2004 में ललित हरि राजकीय आयुर्वेदिक महाविद्यालय पीलीभीत के छात्र संघ अध्यक्ष रहे है। वे पीएमसी हास्पिटल वाराणसी के प्रबंध निदेशक, भारतीय पिछड़ा वर्ग महासंघ के अध्यक्ष, आनंद क्रिकेट एकेडमी अध्यक्ष, बनारस होटल एसोसिएशन उपाध्यक्ष, रोटरी क्लब उदय वाराणसी के सचिव भी है। अजय चैरसिया जी का वाराणसी के बड़ी तादाद में सक्रिय दवा व्यवसायी, हास्पीटल और शिक्षण संस्थान संचालकों के बीच मजबूत पकड़ माना जाता रहा है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here