बरेली : कांग्रेस हाईकमान को बरेली में पार्टी का वजूद बचाना है, तो बदलना होगा संगठन को सिरे से!

0
539

बरेली से ब्यूरो नागेश गुप्ता की खबर

ऐरन दंपत्ति के कांग्रेस छोड़ने से पार्टी को लगा बड़ा झटका

शहर में लगे ऐरन दम्पत्ति के होर्डिंग्स से ही होता था कांग्रेस के वजूद का एहसास

हाईकमान को बरेली में नए सिरे से संगठन को करना होगा तैयार , वरना कांग्रेस का हो जायेगा बंटाधार

बरेली अपने वजूद को लेकर जद्दोजहद कर रही कांग्रेस का बरेली में वजूद का ही संकट खड़ा हो गया है.बरेली में ऐरन दम्पत्ति के बूते सांसे गिन रही कांग्रेस को ऐरन दम्पत्ति के पार्टी छोड़ने से बड़ा झटका लगा है. बरेली में कांग्रेस मृत शय्या पर ही थी,लेकिन पूर्व सांसद प्रवीण सिंह ऐरन और उनकी पत्नी पूर्व मेयर सुप्रिया ऐरन उसको ज़िंदा रखे हुए थे.शहर में ऐरन दम्पत्ति के लगे होर्डिंग्स से ही यहां कांग्रेस के वजूद का एहसास होता था,लेकिन चुनाव के दौरान ऐरन दम्पत्ति ने कांग्रेस को अलविदा कह दिया.सपा ने सुप्रिया ऐरन को कैंट से टिकट भी दे दिया.कांग्रेस के लिए यह झटका बहुत बड़ा है,और कांग्रेस का ज़िले में मौजूदा संगठन इस झटके को झेल पायेगा,ऐसा दूर-दूर तक नज़र नहीं आ रहा.बरेली कांग्रेस में संगठन के नाम पर जो भी कुछ है,वह महज़ कागज़ी के सिवा कुछ नहीं.ऐसे में कांग्रेस हाईकमान को अगर बरेली में कांग्रेस का वजूद बचाना है,तो संगठन को सिरे से बदलना होगा,वरना यहां कांग्रेस का बंटाधार तो हो ही चुका है

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here