क्षय रोग विभाग मनाएगा आजादी के अमृत महोत्सव ‘आइकानिक वीक आफ हेल्थ’

0
33

क्षय रोग विभाग मनाएगा आजादी के अमृत महोत्सव ‘आइकानिक वीक आफ हेल्थ’ : डॉ जय गोविंद
6 से 9 जनवरी तक विविध कार्यक्रमों जैसे- छात्रों का संवेदीकरण, धर्मगुरु सम्मलेन, जनप्रतिनिधि बैठक व नुक्कड़ नाटक का आयोजन कर टीबी उन्मूलन की फैलाई जाएगी जागरुकता

गोंडा, 04 जनवरी – 2022 ||
जिले के क्षय रोग विभाग की ओर से आजादी के अमृत महोत्सव आईकॉनिक वीक ऑफ हेल्थ का आयोजन किया जायेगा | इसके तहत 9 जनवरी तक स्कूल, कॉलेजों, मदरसों, एनसीसी कैसेट्स समेत अन्य जगहों पर विभिन्न तरह की गतिविधियों का आयोजन कर लोगों को टीबी रोग से बचाव के प्रति जागरूक किया जाएगा | यह कहना है जिला क्षय रोग अधिकारी डॉ जय गोविंद का |
डॉ जय गोविंद ने बताया कि राष्ट्रीय क्षय रोग उन्मूलन कार्यक्रम (एनटीईपी) के अन्तर्गत आजादी के अमृत महोत्सव आइकानिक वीक आफ हेल्थ का आयोजन किया जा रहा है | देश को टीबी रोग से मुक्त करने हेतु चल रहे अभियान ‘टीबी हारेगा – देश जीतेगा’ के अन्तर्गत जनपद में 03 से 09 जनवरी तक विभिन्न गतिविधियां आयोजित की जा रही हैं | इसका मुख्य उद्देश्य आम जनमानस को टीबी रोग के प्रति जागरुक करना है | उन्होंने कहा कि टीबी रोगियों को रोग मुक्त होने के लिए पूरा इलाज लेना जरूरी होता है, यदि इलाज अधूरा छोड़ दिया जाता है, तो बीमारी पूरी तरह ख़त्म नहीं होती |
उप जिला क्षय रोग अधिकारी डॉ एके उपाध्याय ने बताया कि भारत सरकार के दिशा-निर्देश के क्रम में प्रति टीबी मरीज पांच सौ रुपये नोटीफिकेशन हेतु तथा पांच सौ रुपये आउट कम के समय दिये जाने का प्रावधान है, जिस पर जनपद में काम किया जा रहा है | इसमें जनपद के निजी क्षेत्र के अस्पताल लाइफ लाइन नर्सिंग होम व शान्तिनगर मिशन हॉस्पिटल समेत अन्य के द्वारा सहयोग किया जा रहा है, लेकिन निजी क्षेत्र के समस्त चिकित्सकों / अस्पतालों द्वारा टीबी मरीजों के नोटीफिकेशन का कार्य नहीं किया जा रहा है | उनका कहना है कि निजी चिकित्सकों से पूर्ण सहयोग न मिल पाने के कारण समस्त टीबी मरीजों का नोटीफिकेशन नहीं हो पा रहा है | ऐसी स्थिति में निजी चिकित्सको से भी सहयेाग की आवश्यकता है कि वह अपने नर्सिंग होम या क्लीनिक पर इलाज करा रहे टीबी मरीजों का ब्यौरा क्षय रोग विभाग की वेबसाइट नि:क्षय पोर्टल पर अवश्य अपलोड करायें, जिससे जनपद के समस्त टीबी मरीजों को चिन्हित कर संख्या प्राप्त की जा सके तथा उन्हें विभागीय योजनाओं से लाभान्वित किया जा सके |
वहीं जिला कार्यक्रम समन्वयक विवेक सरन ने बताया कि 6 जनवरी को स्कूल, कॉलेज, मदरसा, एनसीसी व एनएसएस के छात्रों का संवेदीकरण कार्यक्रम अयोजित किया जायेगा | 07 जनवरी को धर्म गुरूओ के माध्यम से टीबी के प्रति जागरूकता अभियान चलाया जायेगा | 09 जनवरी को भव्य कार्यक्रम का आयोजन किया जायेगा, जिसके अन्तर्गत जनप्रतिनिधियो के साथ बैठक, नुक्कड नाटक व अन्य जागरूकता सम्बन्धी गतिविधियों का आयोजन वृहद्व स्तर पर किया जाएगा | इसके लिये कार्ययोजना तैयार कर ली गयी है | उन्होंने बताया कि टीबी के खात्मे के लिये जनसहभागिता को बढ़ावा देने की खास जरूरत है | इसके लिए आवश्यक है कि लोग टीबी के रोगियों के प्रति मानवीय दृष्टि कोण अपनायें | जनपद में गत वर्ष 01 जनवरी से 31 दिसम्बर तक कुल 5651 टीबी के मरीज खोजे गये है, जिसमें सरकारी अस्पतालों में 5189 तथा प्राइवेट अस्पतालों में 462 मरीजो मिले हैं, इनसे से 82 मरीज मल्टी ड्रग रेजिस्टेन्टस श्रेणी के हैं | इसके साथ ही उन्होंने बताया कि टीबी के 5651 मरीजो में से 88 फ़ीसदी यानि 4981 मरीजों के बैंक खातो में निःक्षय पोषण योजना के तहत पांच सौ रुपए प्रति माह का लाभ दिया जा रहा है | इसके तहत अब तक जनपद में 96 लाख रुपए का भुगतान किया जा चुका है | सरकार का प्रयास है कि वर्ष 2025 तक पूरे भारत देश को क्षय रोग से मुक्त बनाया जा सके |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here