गरीब विद्यार्थियों को वितरित किए ड्रेस, जर्सी और जूते

0
9

  • कॉलिज के विद्यार्थी मेरे परिवार का हिस्सा, जो कुछ कर रहा हूॅं अपने परिवार को सशक्त बनाने के लिए कर रहा हूॅं – जयपाल शर्मा
  • जो मानसिकता से अमीर है वह कभी गरीब नही हो सकते, चाहे वह किसी भी परिस्थितियों में रह रहे हो – सुषमा गौड़

बागपत, उत्तर प्रदेश। विवेक जैन।

श्री यमुना इण्टर कॉलिज बागपत में 35 गरीब विद्यार्थियों को ड्रेस, जर्सी और जूते वितरित किए गए। कॉलिज के शिक्षकों ने बताया कि बागपत स्थित श्री यमुना इंटर कॉलेज के पूर्व प्रधानाचार्य और अंग्रेजी के प्रवक्ता जयपाल शर्मा और उनकी पत्नी शिक्षिका सुषमा गौड द्वारा अनेकों वर्षो से स्वयं के खर्चे पर कॉलिज के गरीब विद्यार्थियों को ड्रेस, जर्सी और जूते वितरित किए जाते है। बताया कि जिस समय जयपाल शर्मा कॉलिज में कार्यरत थे, उस समय 4 से 5 बच्चों की फीस हर वर्ष अपनी जेब से दिया करते थे और ऐसे बच्चों के लिए पठन-पाठन सामग्री की निशुल्क व्यवस्था कराने में महत्वपूर्ण भूमिका अदा करते थे। कॉलिज के शिक्षक अशोक बंधु द्वारा बताया गया कि जयपाल शर्मा और सुषमा गौड़ द्वारा हमेशा से ही धार्मिक, सामाजिक क्षेत्रों में सामर्थ्य के अनुसार अनेकों कार्य किये जाते है। इस बारे में जब जयपाल शर्मा जी से बात की गयी तो उन्होंने बताया कि श्री यमुना इण्टर कॉलिज बागपत में उन्होंने वर्षों सेवा की है और यह कॉलिज उनके परिवार का हिस्सा है। वह जो कुछ कर रहे है, वह अपनो को सशक्त बनाने के लिए कर रहे है। वह उन पर कोई अहसान नही कर रहे है बल्कि परिवार का सदस्य होने के नाते अपने कर्त्तव्यों और दायित्वों का निर्वहन कर रहे है। उन्होंने अपनी पत्नी सुषमा गौड़ द्वारा उनके हर नेक कार्य में कदम से कदम मिलाकर साथ चलने के लिए उनकी प्रशंसा की। शिक्षिका सुषमा गौड़ ने बताया कि गरीब सिर्फ मानसिकता होती है, व्यक्ति नही। जो मानसिकता से अमीर है वह कभी गरीब नही हो सकते, चाहे वह किसी भी परिस्थितियों में रह रहे हो। कहा कि कॉलिज के अनेकों विद्यार्थियों के माध्यम से अप्रत्यक्ष रूप से परमेश्वर ने उनको जो कुछ दिया है, उसमें से वह सामर्थ्य के अनुसार कॉलिज के विद्यार्थियों को देने का प्रयास कर रहे है। कहा कि परिवार में कोई किसी पर अहसान नही करता।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here