बरेली : बीजेपी में शामिल हो सकती हैं सुप्रिया!

0
961

*बरेली शहर,कैंट और बिथरी कहीं से भी चुनाव लड़ाने की पेशकश
*सुप्रिया ने कहा:अच्छा ऑफर मिलने पर बुराई क्या ?

ब्यूरो : नागेश गुप्ता

बरेली शहर भर में कांग्रेस के रंग-निशान और उसके नेताओं के साथ होर्डिंग्स पर छाई पूर्व मेयर सुप्रिया ऐरन बीजेपी में शामिल हो सकती हैं!चुनाव लड़ने की बात कहते हुए सुप्रिया की यह पेशकश बीजेपी आलाकमान के पास पहुंची हुई है,और बीजेपी में उस पर गौर भी हो रहा है.हालांकि सुप्रिया ने बीजेपी में टिकट के लिए आवेदन करने की बात से इनकार किया है,लेकिन चुनाव लड़ने के लिए मौका मिलने पर वह बीजेपी से चुनाव लड़ेंगी,इस बात पर वह तैयार हैं,और साफ तौर पर कह भी रही हैं.
बरेली में मेयर रहीं सुप्रिया ऐरन के पति प्रवीण सिंह ऐरन एक बार कांग्रेस से बरेली लोकसभा सीट से सांसद रह चुके हैं.कांग्रेस के बड़े नेताओं में उनका शुमार होता है.आने वाले विधानसभा चुनाव में सुप्रिया ऐरन विधानसभा चुनाव लड़ने की तैयारी कर रही हैं.पूरे शहर में उनके होर्डिग्स लगे हुए हैं.कांग्रेस के रंग-निशान वाले इन होर्डिंग्स में कांग्रेस के तमाम नेताओं की तस्वीरें हैं.उन पर ऐरन दम्पत्ति की तरफ से कुछ काम कराने की लिस्ट,सच्चाई यह है,के शीर्षक के साथ लिखी गई हैं.उनके कैंट विधानसभा से चुनाव लड़ने की बात कही जा रही है.
इधर सुप्रिया के बीजेपी से टिकट मांगे जाने की खबर आई है.सूत्र बताते हैं कि सुप्रिया का बीजेपी से चुनाव लड़ने का मन है,और इसके लिए उन्होंने आवेदन भी कर दिया है.सूत्र बताते हैं कि उन्होंने बरेली शहर,कैंट और बिथरी,कहीं से भी चुनाव लड़ा देने की पेशकश की है.
सुप्रिया ऐरन बीजेपी से चुनाव लड़ने के इरादे को लेकर पूछे जाने पर इस संभावना से इनकार नहीं करतीं.वह खुद सवाल करती हैं कि अच्छा मौका मिलने पर चुनाव लड़ने में बुराई क्या है?हालाँकि टिकट के लिए आवेदन करने की बात वह सही नहीं बतातीं.वह कहती हैं कि हमने आवेदन नहीं किया है.बातचीत में कांग्रेस नेतृत्व को लेकर उनकी तल्खी भी यह बता रही है कि वह बीजेपी से चुनाव लड़ने के मूड में हैं.
बीजेपी के कैंट से विधायक राजेश अग्रवाल को इस बार टिकट नहीं मिलेगा.उनकी उम्र को लेकर इस तरह की बात कही जा रही है.राजेश अग्रवाल अपने बेटे को टिकट दिलाना चाहते हैं,और वह इसके लिए प्रयास भी कर रहे हैं.कहा जा रहा है कि अपने बेटे को टिकट न मिलने की स्थिति में वह सुप्रिया के लिए पैरवी कर सकते हैं.सूत्र बताते हैं कि आजकल इनकी मुलाकातें भी बढ़ गई हैं.बीजेपी आलाकमान बरेली में कांग्रेस को तगड़ा झटका भी पहुंचाना चाहता है,और सुप्रिया को पार्टी में लेकर यह काम आसानी से किया जा सकता है.
मौजूदा दौर में पेचीदा होती राजनीति में सब कुछ संभव है,और सुप्रिया का बीजेपी में जाना बरेली की राजनीति में बड़ा धमाका होगा.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here